Thursday , November 10 2022

प्रियंका गांधी और सतीशचंद्र मिश्र नजरबंद

लखनऊ. लखीमपुर खीरी में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के दौरे के विरोध में हुए प्रदर्शन के दौरान मचे बवाल से यूपी की राजनीति गर्मा गई है. घटना के बाद पुलिस-प्रशासन चौकस है. किसी भी दल के नेता को लखीमपुर जाने से रोका जा रहा है. इसी क्रम में कांग्रेस की महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी को पुलिस ने लखनऊ में लखीमपुर जाने से रोककर उन्हें नजरबंद कर दिया है. प्रियंका गांधी को लखनऊ के कौल हाउस में रखा गया है. उनके अलावा बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा को भी पुलिस ने लखीमपुर जाने से रोक दिया है. उन्हें भी घर में नजरबंद किया गया है.

इधर, घटना को लेकर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा ने मीडिया के साथ बातचीत में अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार किया. केंद्रीय मंत्री के बेटे पर आरोप है कि उनकी गाड़ी से ही प्रदर्शन कर रहे किसानों को कुचला गया, जिस घटना में 3 लोगों की मौत हो गई. आशीष मिश्रा ने कहा कि वे आज सुबह 9 बजे से ही बनवारीपुर में थे. कार्यक्रम खत्म होने तक वहीं रहे. आशीष ने अपने ऊपर लगे आरोपों से इनकार करते हुए कहा कि इस घटना की न्यायिक जांच होनी चाहिए.

मेरे ऊपर लगे सभी आरोप निराधार हैं, इसलिए मैं घटना की न्यायिक जांच की मांग करता हूं. जांच से सभी दोषी सामने आ जाएंगे. आशीष मिश्रा ने कहा कि उनके 3 वाहन प्रदेश के डिप्टी सीएम को लाने के लिए गए थे. रास्ते में कुछ उपद्रवी तत्वों ने गाड़ियों पर हमला कर दिया. आशीष मिश्रा का आरोप है कि उपद्रवी तत्वों ने इन वाहनों पर पथराव किया और इनमें आग लगा दी. मिश्रा ने यह आरोप भी लगाया कि उपद्रवी तत्वों के हमले में उनके 3-4 समर्थकों की मौत हो गई.

बहरहाल, लखीमपुर खीरी में केंद्रीय मंत्री के विरोध में किसानों के प्रदर्शन और उसके बाद मचे बवाल ने यूपी में चल रही चुनावी राजनीति में उबाल ला दिया है. विपक्षी दलों और किसान संगठनों के नेता इस मामले को लेकर सवाल उठा रहे हैं. सरकार ने घटना के बाद तत्काल संज्ञान लेते हुए लखीमपुर खीरी में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त कर दिए हैं. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद पूरे मामले की मॉनिटरिंग कर रहे हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven + 9 =