Wednesday , November 9 2022

वैनमें रहने वाली महिला ने बनाए इतने रुपए

न्यूज़ीलैंड की रहने वाली ब्रिटनी कॉस्ग्रोव ने अपने छोटे और सीलन से भरे हुए स्टूडियो फ्लैट को छोड़कर एक दिन वैन में ही घर बसाने का फैसला कर लिया. उसके इस फैसले की वजह से ब्रिटनी ने सालभर में 11 लाख रुपये की सेविंग कर डाली. वे अपने फ्लैट के लिए हर महीने 37 हज़ार रुपये देती थीं, जबकि अब वे महज हफ्ते में 5 हज़ार रुपये खर्च कर करती हैं.

ब्रिटनी की उम्र 27 साल है. वे अपना क्लोदिंग बिज़नेस चलाती हैं, जिसका नाम नहीं बहन क्लोदिंग है. वे डिज़ाइनर के तौर पर काम करती हैं. वे वेलिंगटन में एक स्टूडियो फ्लैट लेकर रहती थीं, जिसमें सीलन थी और ये काफी छोटा भी था. आखिरकार एक दिन उन्होंने इस घर से निकलने का फैसला कर लिया.

घर छोड़ने का फैसला करने के बाद ब्रिटनी ने दूसरा घर ढूंढने के बजाय अपने लिए 4.5 लाख रुपये की एक वैन खरीद ली. इस वैन को ही उन्होंने घर के तौर पर तब्दील कर लिया. हालांकि ये देखने में छोटी थी, लेकिन फैशन डिज़ाइनर ब्रिटनी मज़ाक में कहती हैं कि ये किसी स्टूडियो फ्लैट से काफी बेहतर स्थिति में थी. इसमें वो सब कुछ था, जिसकी उन्हें ज़रूरत थी.

वैन में प्राइवेट बाथरूम को छोड़कर सब कुछ मौजूद था. इसके लिए ब्रिटनी ने ये तरीका निकाला कि वे कोई अच्छी जगह ढूंढकर वहां शॉवर ले लेती थीं. जहां भी उन्हें ऐसी जगह मिलती थी, ब्रिटनी वहीं फ्रेश हो जाती थीं. गर्मियों में तो ब्रिटनी अपना पोर्टेबल शॉवर लेकर चलती थीं, वरना उन्हें फेसबुक पर अच्छे बाथरूम का पता चल जाता था.

कभी-कभी जब उनका मन पैसे खर्च करने का होता था, तो वे हॉलीडे पार्क में थोड़ा और पैसा खर्च करके रह लेती थीं. जहां उन्हें पार्क की सारी सुविधाएं इस्तेमाल करने का मौका मिल जाता था. ब्रिटनी बताती हैं कि वैन में रहने का उनका हर हफ्ते का खर्च 5000 रुपये होता था.

ब्रिटनी ने जब पहली बार वैन में रहने के बारे में सोचा, तो ये आइडिया काफी नया था. आखिरकार उन्होंने 1991 मॉडल की Nissan गाड़ी खरीदी और उन्हें ये बहुत पसंद आई. उन्होंने इसमें थोड़ा स्टोरेज बनवाया, एक बड़ा बेड लगवाया. एक किचन और एक टॉयलेट भी बना लिया. इसके लिए उन्होंने कुछ एडजस्टमेंट करने पड़े, लेकिन वे इससे खुश थीं.

सड़कों पर वैन पार्क करके रहना उन्हें खुले में रहने का अनुभव देता है. उन्हें रेंट भी नहीं देना पड़ता और काम भी कम करना पड़ता है. वे कहती हैं कि अब उनका वक्त बचता है और वे नई-नई जगहें देखने जाती हैं. जब वे ड्राइविंग से थक जाती हैं, तो वे अपने किसी दोस्त या परिवार के सदस्य के घर पहुंच जाती हैं. उन सभी को उनकी ये लाइफस्टाइल पसंद है.

ब्रिटनी ने वन पॉट मील बनाना सीख लिया है, जो छोटे कुकिंग स्पेस के लिए काफी है. उनकी चीज़ें काफी साफ सुथरा रहती हैं. उन्हें अपने वैन हाउस में रहते हुए काफी अच्छा और फ्री महसूस होता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 + 9 =