Tuesday , November 8 2022

प्रधानमंत्री आवास योजना के 75 हजार लाभार्थियों को सौंपी चाबी: पीएम मोदी

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को लखनऊ में देश की आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर ‘न्यू अर्बन इंडिया’ थीम के साथ केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय और नगर विकास विभाग, उत्तर प्रदेश के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय कार्यक्रम की शुरुआत की. हर साल करीब 1 हजार करोड़ रुपये बच रहा
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘एलईडी स्ट्रीट लाइट लगने से शहरी निकायों के भी हर साल करीब 1 हजार करोड़ रुपये बच रहे हैं. अब ये राशि विकास के दूसरे कार्यों में उपयोग में लाई जा रही है. एलईडी ने शहर में रहने वाले लोगों का बिजली बिल भी बहुत कम किया है.’ उन्होंने कहा, ‘भारत में पिछले 6-7 वर्षों में शहरी क्षेत्र में बहुत बड़ा परिवर्तन टेक्नोलॉजी से आया है. देश के 70 से ज्यादा शहरों में आज जो इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर चल रहे हैं, उसका आधार टेक्नोलॉजी ही है.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘इस बार दीपावली में अयोध्या में 7.50 लाख दीये जलाने का कार्यक्रम है. मैं उत्तर प्रदेश को कहता हूं कि रोशनी के लिए स्पर्धा मैदान में आएं. देखें अयोध्या ज्यादा दीये जलाता है कि ये जो 9 लाख घर दिए गए हैं, वो 9 लाख घर 18 लाख दीये जलाकर दिखाते हैं.’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘शहरी मिडिल क्लास की परेशानियों और चुनौतियों को भी दूर करने का हमारी सरकार ने बहुत गंभीर प्रयास किया है. यानि रेरा कानून ऐसा एक बड़ा कदम रहा है.’
पीएम मोदी ने कहा, ‘मुझे इस बात की भी खुशी होती है कि देश में पीएम आवास योजना के तहत जो घर दिए जा रहे हैं, उनमें 80 प्रतिशत से ज्यादा घरों पर मालिकाना हक महिलाओं का है या फिर वो ज्वाइंट ऑनर हैं.’
म आवास योजना के तहत 18 हजार घरों को मंजूरी मिली थी, लेकिन पहले की सरकारों ने गरीबों के लिए घर नहीं बनाए. 2017 से अब तक शहरी गरीबों को योगी जी की सरकार में 9 लाख घर मिल चुके हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘हमने घरों के डिजाइन से लेकर घरों के निर्माण तक की पूरी आजादी लाभार्थियों को सौंप दी है. 2014 के पहले सरकारी योजनाओं के घर किस साइज के बनेंगे इसकी कोई स्पष्ट नीति ही नहीं थी. 2014 के बाद हमारी सरकार ने घरों के साइज को लेकर भी स्पष्ट नीति बनाई, हमने ये तय किया कि 22 स्क्वायर मीटर से छोटा कोई घर नहीं बनेगा. हमने घर का साइज बढ़ाने के साथ ही पैसा सीधे लाभार्थियों के खाते में भेजना शुरू किया.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘साल 2014 के बाद से हमारी सरकार ने पीएम आवास योजना के तहत शहरों में 1 करोड़ 13 लाख से ज्यादा घरों के निर्माण की मंजूरी दी है. इसमें से 50 लाख से ज्यादा घर बनाकर, उन्हें गरीबों को सौंपा भी जा चुका है.’
पीएम मोदी ने कहा, ‘लखनऊ ने अटल जी के रूप में एक विजनरी, मां भारती के लिए समर्पित राष्ट्रनायक देश को दिया है. आज उनकी स्मृति में, बाबा साहब भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी में अटल बिहारी वाजपेयी चेयर स्थापित की जा रही है. मुझे विश्वास है कि ये चेयर अटल जी के विजन, उनके एक्शन, राष्ट्रनिर्माण में उनके योगदान को विश्व पटल पर लाएगी. जैसे भारत की 75 वर्ष की विदेश नीति में अनेक मोड़ आए, लेकिन अटल जी ने उसे नई दिशा दी.’
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘मुझे अच्छा लगा कि 3 दिनों तक लखनऊ में भारत के शहरों के नए स्वरूप पर देशभर के विशेषज्ञ एकत्र होकर मंथन करने वाले हैं. यहां जो प्रदर्शनी लगी है, वो आजादी के इस अमृत महोत्सव में 75 साल की उपलब्धियां और देश के नए संकल्पों को भलीभांति प्रदर्शित करती हैं.’

पीएम नरेंद्र मोदी स्मार्ट सिटी मिशन के अंतर्गत आगरा, अलीगढ़, बरेली, झांसी, कानपुर, लखनऊ, प्रयागराज, सहारनपुर, मुरादाबाद और अयोध्या में इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर, इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम और नगरीय इन्फ्रास्ट्रक्चर व अमृत मिशन के अंतर्गत प्रदेश के विभिन्न शहरों में उत्तर प्रदेश जल निगम द्वारा निर्मित पेयजल एवं सीवरेज की कुल 4737 करोड़ रुपये की 75 विकास परियोजनाओं का डिजिटली लोकर्पण/शिलान्यास किया.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश की 10 स्मार्ट सिटी की 75 सफल कहानियों की कॉफी टेबल बुक का डिजिटली विमोचन किया.

पीएम नरेंद्र मोदी ने जनपद लखनऊ, कानपुर, गोरखपुर, झांसी, प्रयागराज, गाजियाबाद और वाराणसी के लिए 75 स्मार्ट इलेक्ट्रिक बसों को डिजिटली फ्लैग ऑफ किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के 75 जिलों के 75 हजार लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना-शहरी के तहत निर्मित घरों की चाबियां डिजिटली सौंपीं.

लखनऊ में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, ‘केंद्र में प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में सरकार आने के साथ ही देश के शहरी विकास की गति लगातार आगे बढ़ती जा रही है. आज से शुरू हो रहे कॉन्क्लेव में हमारे सामने शहरी विकास के नए-नए आयाम आएंगे और पूरे देश में ट्रांसफॉर्मेशन में अपना योगदान देंगे.’
अर्बन कॉन्क्लेव कार्यक्रम में केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा, ‘1947 में आजादी के समय हमारे शहरों की आबादी लगभग 6 करोड़ थी, 2030 में ये आबादी 60 करोड़ होने जा रही है. मुझे विश्वास है कि 2030 तक 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लिए हमारी केंद्रीय योजनाएं महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी.’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आधुनिक आवासीय तकनीकों पर प्रदर्शनी का अवलोकन किया. इस दौरान उनके साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 + eleven =