Tuesday , November 8 2022

चाकुओं से गोदकर किशोरी कीएकतरफा प्यार में हत्या

पुणे. महाराष्ट्र के पुणे शहर में एकतरफा प्यार में किशोरी की हत्या का मामला सामने आया है. खबर है कि तीन लोगों ने सरेराह एक 14 वर्षीय किशोरी की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी. पुलिस ने जानकारी दी है कि इस क्रूर हमले का शिकार हुई किशोरी की मौके पर ही मौत हो गई थी. फिलहाल, पुलिस ने दो नाबालिगों को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच जारी है. महाराष्ट्र के उप-मुख्यमंत्री अजीत पवार ने घटना की निंदा की है. साथ ही उन्होंने मामले में तुरंत कार्रवाई करने के लिए भी कहा है.

महाराष्ट्र के पुणे शहर में मंगलवार को बीच सड़क पर तीन लोगों ने चाकुओं से गोदकर 14 वर्षीय एक किशोरी की निर्मम तरीके से हत्या कर दी. घटना उस समय हुई जब किशोरी कबड्डी के अभ्यास के लिए जा रही थी. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि कक्षा आठ में पढ़ने वाली लड़की के दूर के एक रिश्तेदार का ‘एकतरफा’ प्यार इस बर्बर हत्या का कारण हो सकता है.
पुलिस उपायुक्त (जोन-5) नम्रता पाटिल ने कहा, ‘लड़की शाम करीब पौने छह बजे कबड्डी के अभ्यास के लिए बिबेवाडी क्षेत्र के यश लॉन्स जा रही थी कि तभी एक मोटरसाइकिल पर सवार होकर 22 वर्षीय एक लड़के सहित तीन लोग पहुंचे और उस पर धारदार हथियार से हमला कर दिया. उन्होंने चाकुओं से कई बार वार किया. हमला इतना बर्बर था कि लड़की की घटनास्थल पर ही मौत हो गई.’

बिबेवाड़ी पुलिस स्टेशन के सीनियर इंस्पेक्टर सुनीव जावरे ने जानकारी दी, ‘लड़की साम करीब 5:45 बजे कबड्डी अभ्यास के लिए बिबेवाड़ी इलाके के यश लॉन में जा रही थी. जब वह लॉन के पास दोस्तों के साथ खड़ी थी, तब एक मोटरसाइकिल पर 22 वर्षीय लड़के समेत तीन लोग पहुंचे. उनमें एक गाड़ी पर ही रहा. जबकि, 22 वर्षीय सहित दो लोगों ने उसपर धारदार हथियारों से हमला कर दिया.’

उन्होंने बताया कि आरोपियों ने लड़की के गले और शरीर पर कई जगह वार किए हैं. उन्होंने कहा कि 22 वर्षीय आरोपी शुभम भागवत लड़की का दूर का रिश्तेदार है और वह उसी के घर पर रहता था. जावरे ने बताया कि एकतरफा प्यार हो जाने के चलते लड़की के माता-पिता ने उसे घर से जाने के लिए कहा था. उन्होंने जानकारी दी कि दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है और मुख्य आरोपी अभी फरार है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four − 1 =