Monday , November 7 2022

अतिबृष्टि से मरे लोगो के आश्रितों को चार लाख मुआवजा

देहरादून:,उत्तराखंड में बारिश की वजह से उपजे हालात से निपटने के लिए सीएम पुष्कर सिंह धामी ने दिन भर मोर्चा संभाले रखा। सीएम ने आपदा की वजह से जान गंवाने वालों के आश्रितों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा भी की। मंगलवार सुबह सचिवालय में आपदा कंट्रोल रूम का मुआयना कर आपदा की स्थिति की जानकारी ली।

वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए सभी डीएम से अपडेट लेते हुए अलर्ट रहने के निर्देश दिए। दोपहर हवाई सर्वे करते हुए बारिश से प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लिया। साथ ही रेस्क्यू कार्य में लगे सुरक्षा बलों का हौंसला भी बढ़ाया। सीएम ने डीएम को निर्देश दिए कि अतिवृष्टि पीड़ितों के साथ ही उत्तराखंड आए यात्रियों को हर संभव सहयोग और सहायता दी जाए। इस दौरान आपदा प्रबंधन मंत्री डॉ. धन सिंह रावत भी उनके साथ रहे।

डॉ.रावत ने कहा किआपदा की संवेदनशीलता को देखते हुए जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, जिला आपदा प्रबंधन, एसडीआरएफ एवं आपदा से सम्बंधित सभी विभागों को अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं।आपदा पीड़ितों को अनुमन्य आर्थिक मदद के साथ ही तीर्थयात्रियों एवं पर्यटकों की सुविधा का ध्यान रखने के निर्देश भी अधिकारियों को दिये। कहा कि, संकट की इस घड़ी में पीड़ित परिवारों के साथ सरकार पूरी तत्परता के साथ खड़ी है।

आपदा प्रबंधन सचिव एसए मुरूगेशन ने कहा कि अतिवृष्टि की वजह उपजे हालात से तेजी से निपटा जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोग अब भी अनावश्यक यात्रा पर निकलने पर फिलहाल परहेज करे। खासकर कुमाऊं मंडल में अतिवृष्टि की अधिकता के कारण वहां अतिरिक्त एहतियात बरता जाए। रास्ते खुले होने की सूचना मिलने पर ही यात्रा पर निकलने की योजना बनाएं।

रुद्रपुर। विगत दिवस हुई मूसलाधार बारिश के प्रशासन ने रुद्रपुर में कई स्थानों पर राहत केंद्र बनाये हैं। इन केंद्रों पर जलभराव वाले क्षेत्रों को रखा गया है। इन केंद्रों पर राहत सामग्री वितरित करने के लिए प्रशासन ने करीब 20 टीमें गठित की गयी है। इन टीमों ने केंद्रों में रह रहे लोगों को करीब 4500 पैकेट लंच और डिनर के वितरित किए। इसके अलावा 200 लीटर पानी और डिजल के साथ पेट्रोल की व्यवस्था की गयी।

 

जिला पूर्ति अधिकारी तेज बल सिंह ने बताया कि विगत दो दिनों से लगातार हो रही बारिश से रम्पुरा, जगतपुरा, भूतबंगला, शक्तिविहार, शिवनगर, खेड़ा, ट्रांजिट कैंप और मुखर्जी नगर में कई घरों में पानी भर गया था। इसके लिए प्रशासन ने इन स्थानों पर रहने के लिए राहत केंद्र बनाये गये हैं। इन केंद्रों पर ही लोगों को रखा गया है। सभी टीमों ने इन स्थानों पर सुबह से ही राहत सामग्री पहुंचानी शुरू कर दी थी। उन्होंने बताया कि आगे भी इन केद्रों पर राहत सामग्री पहुंचायी जाएगी।

जिलाधिकारी रंजना राजगुरु ने भारी बारिश से हुए विभिन्न क्षतिग्रस्त मार्गों व जलभराव स्थल का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। साथ ही कहा कि क्षतिग्रस्त मार्गों से जनहानि को रोकने के लिए तत्काल वैकल्पिक व्यवस्था की जाए। साथ ही जलभराव वाले क्षेत्रों से शीघ्र जल निकासी की व्यवस्था की जाए। इस दौरान जिलाधिकारी ने इंदिरा चौक, डीडी चौक, कालीनगर, पंतनगर, नगला, मस्जिद कालोनी आदि मार्गों का निरीक्षण किया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आशीष भटगांई भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five × 4 =