Saturday , September 3 2022

आवाज की गति से 24 गुना तेज रफ्तार से 5 हजार किमी रेंज वाली अग्नि-5 बैलेस्टिक मिसाइल

नई दिल्ली. भारत ने बुधवार शाम सतह से सतह पर मार करने वाली 5 हजार किमी रेंज वाली अग्नि-5 बैलेस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया. सरकार ने बताया कि यह मिसाइल थ्री-स्टेज सॉलिड फ्यूल इंजन की क्षमता वाली है. जो 5000 किमी की दूरी से अपने टारगेट पर एकदम सटीक हमला करेगी. हालांकि सरकार ने साफ कर दिया कि वह मिसाइल का पहले इस्तेमाल न करने की नीति पर कायम है. अग्नि-5 के आने भारत के डिफेंस की ताकत और भी ज्यादा बढ़ जाएगी. इस बैलेस्टिक मिसाइल को खास बनाती है इसकी रेंज. अब इसकी जद में चीन की राजधानी बीजिंग समेत करीब-करीब सारे शहर हैं. इसके अलावा यह एशिया के कई देश और यूरोप तक मार कर सकती है.

माना जाता है कि अग्नि-5 को खासतौर से चीन की तरफ से मिल रही चुनौतियों के लिए तैयार किया गया है. इससे पहले भारत की अग्नि-3 मिसाइल की रेंज 3000–3500 थी. लेकिन इससे चीन के ईस्टर्न और नॉर्थ ईस्टर्न रीजन तक पहुंचना मुश्किल था. चीन के ज्यादातर इकोनॉमिक सेंटर ईस्टर्न सीबोर्ड में हैं. भारत की तरफ से चीन के लिए सबसे बड़ा सिरदर्द है. यही वजह है कि चीन ने इस टेस्टिंग पर अपनी नाराजगी भी जाहिर की है.

कहा जाता है कि भारत के मैप पर किसी भी जगह से 5000 किलोमीटर का निशान बना दें और इसे फायर कर दें तो अग्नि-5 सटीक मार कर सकती है. रफ्तार की बात करें तो ये आवाज की गति से 24 गुना तेज रफ्तार अपने टारगेट की ओर जाती है. यानी एक सेकंड में 8.16 किलोमीटर की दूरी तय करती है. मिसाइल का वजन करीब 50 टन है. इसकी लंबाई करीब 17 मीटर है, जबकि मोटाई करीब 2 मीटर है. ये करीब 1500 किलो के वॉर-हेड को ले जाने में सक्षम है. भारत इससे पहले अग्नि-1, 2, 3 मिसाइल को ऑपरेशनली तैनात कर चुका है.

भारतीय वैज्ञानिकों ने बताया कि अब तक इसके अलग अलग 7 से ज्यादा ट्रायल हो चुके है. डीआरडीओ के पूर्व वैज्ञानिक का मानना है कि अग्नि 5 मिसाइल तकनीक के क्षेत्र में एक क्वांटम जंप है. इस मिसाइल की पूरी तकनीक , प्रोपल्शन सिस्टम , रॉकेट ,एडवांसड नेविगेशन 100 फीसदी स्वदेशी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

five × 3 =