Saturday , September 3 2022

अखिलेश को याद आए जिन्ना

लखनऊ: यूपी के हरदोई जिले में समाजवादी विजय रथ यात्रा लेकर पहुंचे सपा मुखिया अखिलेश यादव ने लखनऊ पब्लिक स्कूल में आयोजित जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जमकर हमला बोला. इस दौरान अखिलेश यादव ने सरदार बल्लभ भाई पटेल के बहाने पाकिस्तान के जनक मोहम्मद अली जिन्ना को भी याद किया. अखिलेश ने कहा कि सरदार पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और जिन्ना एक ही संस्था से पढ़कर निकले और बैरिस्टर बने.
बीजेपी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि ऐसी विचारधारा जो सबको जाति और धर्म में बांटने का काम करे, हम ऐसी विचारधारा को नहीं मानेंगे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को लैपटॉप चलाना नहीं आता और ना ही मोबाइल चलाना आता है, इसीलिए मुख्यमंत्री ने लैपटॉप नहीं बांटा. योगी सरकार पर हमलावर अखिलेश ने अपनी सरकार के विकास कार्यों को गिनाते हुए कहा कि धुआं उड़ाने वाली सरकार को धुएं में उड़ा दो.

अखिलेश यादव ने कहा कि सरदार पटेल जमीन को पहचानते थे और जमीन को देखकर फैसले लेते थे, वह जमीन को समझ लेते थे तभी फैसला लेते थे, इसीलिए आयरन मैन के नाम से जाने जाते थे. लौह पुरुष सरदार पटेल जी एक विचारधारा पर पाबंदी लगाने का काम किया था. लेकिन आज जो देश की बात कर रहे हैं, वह हमें और आपको जाति और धर्म में बांटने की बात कर रहे हैं. अगर हम जाति और धर्म में बंट जाएंगे तो हमारे देश का क्या होगा. दुनिया में हमारे देश की सबसे बड़ी पहचान यही है कि हम अलग-अलग जाति और धर्म के लोग एक साथ रहते हैं. दुनिया में और कहीं भी इतनी जाति और धर्मों के लोग एक साथ नहीं रहते हैं. इसलिए हम आज के दिन सरदार पटेल को याद कर रहे हैं, जिन्होंने देश को एक कर रियासतों को खत्म कर दिया था. अखिलेश ने कहा कि कोई ऐसी ताकत जो जातियों और धर्म में लड़ाई कराए हम उसकी विचारधारा को नहीं मानेंगे.

अखिलेश यादव ने कहा, ‘मैंने सुना है कि अभी लखनऊ में देश के सभी डीजीपी आएंगे, मुझे इस बात की खुशी है कि ऐसे मौकों पर भारतीय जनता पार्टी के पास अपना कोई काम दिखाने को है ही नहीं. जब देश के बड़े-बड़े अधिकारी लखनऊ आएंगे तो वह देखेंगे समाजवादियों का डायल हंड्रेड और समाजवादी सरकार द्वारा बनाया हुआ डीजीपी ऑफिस. इस भारतीय जनता पार्टी ने कोई काम नहीं किया है. जो लोग हमारे काम का हिसाब-किताब मांगते हैं वो सोचें कि मुख्यमंत्री जी जहां बैठते हैं वह भी समाजवादी सरकार द्वारा बनाया हुआ है. वे जिस सोफे पर बैठते हैं, वो भी समाजवादी सरकार का खरीदा हुआ है और जिस गाड़ी में लखनऊ में चलते हैं वह भी समाजवादी सरकार की खरीदी हुई है, जिस हेलीकॉप्टर से कभी-कभी उड़ते हैं वह भी समाजवादी सरकार का खरीदा हुआ है, इनका अपना क्या है सोचो इसलिए धुआं उड़ाने वाले लोगों को धुएं में उड़ा दो.’

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seventeen − fifteen =