Monday , August 29 2022

जब इस देश के प्रधानमंत्री ने कहा मोदी जी मेरी पार्टी जॉइन कर लीजिए

ग्लासगो: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके इजरायली समकक्ष नफ्ताली बेनेट के बीच मंगलवार को पहली औपचारिक बैठक हुई. इस दौरान दोनों नेताओं के बीच एक हल्का-फुल्का पल तब आया जब बेनेट ने पीएम मोदी से कहा कि वह इजरायल में काफी पॉपुलर हैं और वह उनकी पार्टी में शामिल हो जाएं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्लासगो में COP26 जलवायु शिखर सम्मेलन से इतर इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट के साथ मुलाकात की. इस दौरान दोनों नेताओं ने दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की और मॉर्डन टेक्नोलॉजी और इनोवेशन के क्षेत्रों में सहयोग बढ़ाने के बारे में विचारों का आदान-प्रदान किया. जलवायु सम्मेलन के दौरान सोमवार को संक्षिप्त बातचीत के बाद प्रधानमंत्री मोदी और बेनेट की पहली औपचारिक मुलाकात हुई.

सोशल मीडिया पर साझा किये गए एक वीडियो के मुताबिक बेनेट ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा, ‘आप इजरायल के सबसे पॉपुलर शख्स हैं.’ इसके जवाब में पीएम मोदी ने कहा, ‘धन्यवाद, धन्यवाद.’ बेनेट ने इसके बाद पीएम मोदी को अपनी यामिना पार्टी में शामिल होने के लिए कहा. दोनों नेताओं ने मुस्कुराते हुए हाथ मिलाया और इस दौरान बेनेट ने कहा, ‘आइये और मेरी पार्टी में शामिल हो जाइये.’

इससे पहले, प्रधानमंत्री मोदी ने बेनेट के साथ हुई मुलाकात को याद करते हुए कहा कि भारत के लोग इजरायल के साथ दोस्ती को काफी महत्व देते हैं. प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया, ‘इजरायल के साथ दोस्ती को और मजबूत करते हुए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नफ्ताली बेनेट की ग्लासगो में सार्थक बैठक हुई. दोनों नेताओं ने हमारे नागरिकों के फायदे के लिए सहयोग के विभिन्न उपायों को मजबूत करने पर चर्चा की.’
पीएम मोदी और बेनेट के बीच यह मुलाकात विदेश मंत्री एस. जयशंकर के पिछले महीने इजरायल दौरे के दौरान मोदी की ओर से इजरायल के प्रधानमंत्री को भारत आने का न्योता देने के बाद हुई है. इजरायली मीडिया की खबरों के मुताबिक इस साल जून में प्रधानमंत्री बने बेनेट के अगले साल भारत की यात्रा करने की संभावना है.

जुलाई 2017 में प्रधानमंत्री मोदी की इजरायल की ऐतिहासिक यात्रा ने भारत और इजरायल के द्विपक्षीय संबंधों को एक रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाया था. तब से, दोनों देशों के बीच संबंध नॉलेज बेस्ड साझेदारी के विस्तार पर केंद्रित हैं, जिसमें ‘मेक इन इंडिया’ पहल को बढ़ावा देने सहित इनोवेशन और रिसर्च में सहयोग शामिल है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

5 − five =