Tuesday , August 30 2022

मिला नरक का कुआं, कांप जाएगी रूह

सना: वैज्ञानिकों को खाड़ी देश यमन में नरक का कुआं मिला है. इस कुएं में बहुत सारे सांपों के झुंड और झरने हैं. कुछ लोग इस कुंए को ‘पाताल का रास्ता’ या ‘जिन्नों की जेल’ भी कह रहे हैं. कई दशक तक लोकल लोग इस कुएं के पास जाने से डरते रहे.

लाइव साइंस में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार, यमन में मिले नरक के कुएं का आधिकारिक नाम बारहौत का कुआं है. बारहौत का कुआं करीब 367 फीट गहरा है. नरक के कुएं का व्यास 98 फीट है.

बता दें कि बारहौत का कुआं यमन के अल-माहरा राज्य के रेगिस्तान में ओमान के बॉर्डर के पास है. हैरानी की बात ये है कि ओमान के रिसर्चर्स से पहले नरक के कुएं में कोई नहीं गया था. रिसर्चर्स को कुएं के अंदर कई झरने दिखे. वहां सांपों के कई झुंड भी मिले.
एक सदस्य और प्रोफेसर मोहम्मद अल-किंडी ने कहा कि हम जानना चाहते थे कि कुएं के अंदर क्या है? हालांकि ये डरावना था. इस रिसर्च से हमें यमन के इतिहास से जुड़ी कई जानकारियां मिल सकती हैं. रिसर्चर्स को नरक के कुएं में मरे हुए जानवर और मोती भी मिले हैं.
गौरतलब है कि ये कुआं कितना पुराना है, रिसर्चर्स अभी इसका पता नहीं लगा पाए हैं. वैज्ञानिकों का मानना है कि नरक का कुआं लाखों साल पुराना हो सकता है. लोकल लोगों का मानना है कि जो भी नरक के कुएं के पास जाता है वो उसे कुएं के अंदर खींच लेता है. हालांकि वैज्ञानिकों को इसका कोई सबूत नहीं मिला है कि नरक का कुआं अपनी तरफ खींचता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

two × 3 =