Saturday , November 5 2022

पाकिस्तान के खिलाफ जंग लड़ने वाले जांबाज सैनिक की हत्या

नांदेड. महाराष्ट्र के नांदेड जिले में पूर्व सैनिक की पत्थरों से हमला कर हत्या कर दी गई. इस हत्याकांड को पूर्व सैनिक के बेटे ने ही अंजाम दिया. हत्या के पीछे पारिवारिक वजह बताई जा रही है. पुलिस को आशंका है कि इस हत्याकांड में बहू और पोते का हाथ हो सकता है. पूर्व सैनिक ने पाकिस्तान के खिलाफ 1965 की जंग में बहादुरी दिखाई थी. मामला नांदेड जिले के अर्धापुर कस्बे का है. यहां रहने वाले पूर्व सैनिक नारायणराव साबले और उनके बेटे विजय में किसी बात पर विवाद हुआ था. दोनों के बीच यह विवाद इतना बढ़ गया कि विजय ने अपने पिता के साथ मारपीट शुरू कर दी थी.

विजय और उसके पिता नारायण के बीच मारपीट के बाद विजय ने पास में रखे बड़े पत्थर से पिता पर हमला कर दिया. इस हमले में उनकी मौत हो गई. जानकारी के अनुसार पूर्व सैनिक नारायण साबले पर हमले की सूचना मिलने पर उनके छोटे बेटे दिलीप और बहू गया मौके पर पहुंचे. दोनों उन्हें गंभीर हालत में अर्धापुर के सरकारी अस्पताल लेकर गए, जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया.

पुलिस की जांच में सामने आया है कि घटना के वक्त आरोपी दिलीप की पत्नी और 18 साल का बेटा शुभम भी मौके पर मौजूद था. इसके बाद पुलिस ने दोनों के खिलाफ भी केस दर्ज कर लिया है. अभी तक इस मामले में मुख्य आरोपी दिलीप की गिरफ्तारी हो चुकी है, जबकि पूर्व सैनिक के बहू और पोते की भूमिका की जांच की जा रही है.

नारायणराव साबले ने पाकिस्तान के खिलाफ 1965 और 1971 के युद्ध भी हिस्सा भी लिया था. युद्ध के दौरान जांबाजी से लड़ रहे नारायणराव को जांघ में एक गोली भी लगी थी, जिसके बाद उन्हें शारीरिक दिक्कतें थीं, खासतौर पर पैर में समस्‍या थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 + 3 =