Tuesday , September 6 2022

घट सकते है पेट्रोल दाम , सरकार करने जा रही ये उपाय!

मुंबई: केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने वाहनों में इथेनॉल के को अन्य फ्यूल के मुकाबले बेहत विकल्प बताते हुए इसके उपयोग पर जोर दिया है. गडकरी ने कहा कि आने वाले दिनों में ‘फ्लेक्स-फ्यूल इंजन’ कंपलसरी कर दिए जाएंगे. महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक के एक कार्यक्रम में बोलते हुए, गडकरी ने एक रूसी टैक्निक का जिक्र करते हुए कहा, इसके जरिए पेट्रोल और इथेनॉल के ‘कैलोरिफिक वैल्यू’ को बराबर किया जा सकता है. फ्लेक्स फ्यूल – गैसोलीन, मेथनॉल या इथेनॉल के कॉम्बिनेशन से बना एक वैकल्पिक ईंधन है.

यदि ऐसा होता है, तो सभी पेट्रोल पंपों को इथेनॉल पंपों से बदला जा सकता है. केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने महाराष्ट्र सरकार से पश्चिमी महाराष्ट्र में 100 प्रतिशत इथेनॉल पर चलने वाले ऑटो-रिक्शा को परमीशन देने की अपील की. वहीं, केंद्र सरकार ने बुधवार को 2025 तक 20 प्रतिशत डोपिंग (पेट्रोल के साथ इथेनॉल का मिलावट स्तर) हासिल करने के अपने लक्ष्य के तहत दिसंबर से शुरू होने वाले विपणन वर्ष 2021-22 के लिए पेट्रोल में ब्लेंडिंग के लिए गन्ने से निकाले गए इथेनॉल की कीमत में 1.47 रुपये प्रति लीटर तक की बढ़ोतरी की है.

पेट्रोल में एथेनॉल के ज्यादा मिश्रण से भारत को अपने तेल आयात खर्च में कटौती करने में मदद मिलेगी और गन्ना किसानों के साथ-साथ चीनी मिलों को भी लाभ होगा. व्हीकल मैन्युफैक्चरर किर्लोस्कर और टोयोटा के प्रतिनिधियों के साथ अपनी हालिया बैठक का जिक्र करते हुए, गडकरी ने कहा, ‘उन्होंने फ्लेक्स (लचीले) इंजन वाली कारें तैयार की हैं. फ्लेक्स इंजन का मतलब है जिसमें 100 प्रतिशत पेट्रोल या इथेनॉल का उपयोग किया जा सके. इसे यूरो 6 मानदंडों के हिसाब से बनाया गया है. मैं फ्लेक्स इंजन को अनिवार्य बनाने जा रहा हूं.’

गडकरी ने हल्के-फुल्के अंदाज में कहा, ‘पेट्रोल का इस्तेमाल न करें. ईंधन की बढ़ती कीमतों पर आपको आंदोलन करने की जरूरत नहीं है. इथेनॉल की कीमत 62 रुपये होगी और यह आयात का एक विकल्प होगा और यह लागत प्रभावी और प्रदूषण मुक्त है.’ वाहनों के लिए ग्रीन टेक्नोलॉजी के उपयोग पर जोर देते हुए, गडकरी ने कहा कि दिल्ली में एक हरे रंग की हाइड्रोजन कार का उपयोग किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

3 × three =