Saturday , September 3 2022

खुलासा! चीन ने चुपके से भूटान की सीमा में बसा लिए गांव


लाइन ऑफ कंट्रोल के पास चीन और भारत के बीच अभी विवाद नहीं सुलझा है। इस बीच कुछ सैटेलाइट से सामने आई कुछ नई तस्वीरों से पता चला है कि ड्रैगन ने अब भूटान में घुसपैठ शुरू कर दी है। चीन ने यह गांव डोकलाम के नजदीक बसाए हैं। बताया जा रहा है कि पिछले एक साल के दौरान चीन ने भूटान की सीमा में करीब 100 स्क्वायर किलोमीटर क्षेत्र में कई नये गांव बना लिये हैं।

सैटेलाइन की अलग-अलग तस्वीरें सामने आई हैं। दावा किया जा रहा है कि चीन सिक्किम में डोकलाम से सटे भूटान की सीमा के पास कई इमारतें बना रहा है। सैटेलाइट इमेजरी एक्सपर्ट ने ट्विटर पर तस्वीर शेयर किया है। इंटल लैब के एक रिसर्चर की तरफ से दावा किया जा रहा है कि चीन ने भूटान की सीमा में कई गांव बना लिये हैं। बताया जा रहा है कि डोकलाम के नजदीक भूटान और चीन के बीच विवादित जमीन पर साल 2020-21 से निर्माण कार्य किया जा रहा है। कई गांव वहां विकसित किये जा चुके हैं।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि मई 2020 और नवंबर 2021 के बीच चार गांव बनाए गए हैं। इस इलाके में काम जारी है। इस समय के दौरान चीन और भूटान ने एक मेमोरेन्डम पर हस्ताक्षर भी किये थे जिसमें दोनों देशों के बीच सीमा के पास विवादित जमीन को लेकर तीन स्तरीय रोड मैड बनाकर इस विवाद को सुलझाने की बात कही गई थी।

चीना हमेशा दावा करता है कि डोकलाम के साथ-साथ वेस्टर्न भूटान के तीन इलाके और नॉर्दन हिस्से के तीन क्षेत्र भी चीनी सीमा में ही आते हैं। बता दें कि डोकलाम, भूटान के लिए रणनीतिक तौर से महत्व नहीं रखता है। यह क्षेत्र भारत के लिए काफी अहम है और इससे चीन सिलिगुड़ी कॉरिडोर तक नजर रखता है। यह नई दिल्ली के लिए रणनीतिक रूप से काफी अहम है।

सिलिगुड़ी कॉरिडोर को आम तौर पर ‘चिकेन नेक’ के तौर पर जाना जाता है। ओपन सोर्स अकाउंट डेट्रस्फा ने चौंकाने वाला दावा करते हुए कहा है कि चीन ने भूटान में चार नए गांव बना लिए हैं. ये गांव डोकलाम के पास है जहां से भारत का ‘चिकन नेक’ गुजरता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

one × 4 =