Tuesday , November 8 2022

चायवाले दंपति ने 14 सालों में की 26 देशों की यात्रा

कोच्चि. कई देशों की यात्रा करने वाले कोच्चि के मशहूर चाय विक्रेता आर विजयन का शुक्रवार को यहां दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. वह 71 वर्ष के थे. कोच्चि में चाय की एक मामूली सी दुकान ‘श्री बालाजी कॉफी हाउस’ के मालिक विजयन और उनकी पत्नी मोहना अपनी कमाई से विश्व भ्रमण के लिए काफी मशहूर हुए. यह दंपति हाल में रूस की यात्रा से लौटा था. रूस जाने के पहले विजयन ने कहा था कि वे अक्टूबर क्रांति की वर्षगांठ देखना चाहते हैं, जिसमें बोल्शेविक पार्टी ने 1917 में रूस में सत्ता पर कब्जा कर लिया था. वे शांत बहने वाले वोल्गा नदी को करीब से देखने के लिए काफी उत्‍साहित थे.

दंपति ने चाय की दुकान से होने वाली कमाई से रोजाना 300 रुपये बचाकर 2007 में इजराइल की यात्रा की थी. देश के बाहर उनकी यह पहली यात्रा थी. पिछले 14 सालों में इस दंपति ने 26 देशों की यात्रा की. यात्राओं के लिए वे छोटे-छोटे कर्ज भी लेते थे. यात्रा से काफी दिन पहले से वे चाय की दुकान पर उसकी सूचना एक पोस्‍टर के रूप में लगा देते थे. उनकी दुकान पर उनकी पत्‍नी चाय और नाश्‍ता बनाने का काम करती थीं तो स्‍वयं विजयन भी चाय बनाते थे. उन्‍होंने पहले देश के प्राय: सभी धार्मिक और पर्यटन स्थलों की यात्रा की. उन्‍होंने भगवान बालाजी के मंदिर में 100 से अधिक बार दर्शन किए थे. इसके बाद वे देश के बाहर की यात्राएं भी करने लगे.

दुनिया भर में यात्रा करने वाले इस दंपति की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद उन्हें उद्योगपति आनंद महिंद्रा जैसे प्रायोजक मिलने लगे, जिन्होंने 2019 में उनकी ऑस्ट्रेलिया यात्रा को प्रायोजित किया. विजयन ने मीडिया से अपनी यात्राओं को लेकर कहा था कि यात्रा मेरे खून में है. अनुभव सबसे अच्छा शिक्षक है और यात्रा सबसे अच्छा अनुभव, जो आपको अमीर बनाता है.
दंपति की रूस की अंतिम यात्रा 21 अक्टूबर को हुई थी और वे 28 अक्टूबर को लौटे थे. जाने-माने लेखक एन एस माधवन ने ट्वीट किया, ‘दुनिया के कई देशों की यात्राएं करने वाले एर्नाकुलम के चाय-विक्रेता विजयन का निधन. वह अभी रूस से लौटे थे, जहां पुतिन से उनके मिलने की इच्छा थी.’ विजयन के परिवार में पत्नी, दो बेटियां शशिकला, उषा और तीन नाती-नातिन हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

13 − 2 =