Tuesday , November 8 2022

ट्रेन में लोअर बर्थ किसे और कब मिलती है?

नई दिल्ली. रेल में सफर के दौरान सबसे अच्छी सीट लोअर बर्थ मानी जाती है, लेकिन आसानी से लोअर बर्थ मिलती नहीं है. यदि आप लोअर बर्थ सुनिश्चित करना चाहते हैं तो आपको IRCTC द्वारा बताई गई प्रक्रिया को समझना चाहिए. भारतीय रेलवे की तरफ से ट्रेन में सफर करने के दौरान वरिष्ठ नागरिकों को लोअर बर्थ की प्राथमिकता दी जाती है, लेकिन कई बार ऐसा भी होता है, जब टिकट बुकिंग के दौरान सीनियर सिटिजन के लिए आग्रह करने के बावजूद लोअर बर्थ नहीं मिल पाती. ऐसा क्यों होता है, इसके पीछे की प्रक्रिया को समझना बेहद जरूरी है.

रेलवे ने एक यात्री द्वारा पूछ गए सवाल के जवाब में वह तरीका बताया है, जिसके तहत लोअर बर्थ अलॉट की जाती है. यात्री ने ट्विटर पर सवाल किया था, ‘मैंने तीन सीनियर सिटीजन के लिए लोअर बर्थ प्रेफरेंस के साथ टिकट बुक की थीं, तब 102 बर्थ उपलब्ध थीं. बावजूद इसके उन्हें एक मिडिल, एक अपर और एक साइड लोअर बर्थ दी गईं. ऐसा क्यों है? इसे सुधारा जाना चाहिए’
यात्री ने अपने ट्वीट में रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव को टैग किया था. इसके उत्तर में IRCTC ने ट्विटर पर लिखा- महोदय, लोअर बर्थ / सीनियर सिटिजन कोटा बर्थ केवल 60 वर्ष और उससे अधिक, 45 वर्ष और उससे अधिक की महिला आयु के लिए निचली बर्थ निर्धारित हैं. लेकिन यह तब लागू है जब एक या दो यात्री ही सफर करते हैं. IRCTC ने आगे बताया कि अगर दो से अधिक वरिष्ठ नागरिक या एक वरिष्ठ नागरिक है और दूसरा वरिष्ठ नागरिक नहीं हैं, तो सिस्टम इस पर विचार नहीं करेगा. यानी कि दो सिनियर सिटीजन को लोवर बर्थ दिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − one =