Saturday , November 5 2022

इस देश ने भारत के बाद खरीदे 80 राफेल फाइटर जेट, जानें

पेरिस : फ्रांस के लड़ाकू फाइटर जेट राफेल को भारत समेत कई देशों ने खरीदा. अब शुक्रवार को संयुक्त अरब अमीरात ने राफेल को लेकर फ्रांस के साथ एक बड़ी डील की है. संयुक्त अरब अमीरात ने फ्रांस से 80 राफेल विमान और 12 सैन्य हेलीकॉप्टर खरीदे हैं. यूएई ने इतनी बड़ी मात्रा में राफेल और सैन्य हेलिकॉप्टर को लेने के लिए फ्रांस के साथ 19.20 बिलियन डॉलर की डील की है.

बता दें कि फ्रांसीसी युद्धक विमान राफेल की यह डील अब तक की सबसे बड़ी विदेशी बिक्री है. फिलहाल अभी यूएई की तरफ से राफेल की खरीद को लेकर कोई भी आधिकारिक बयान नहीं दिया गया है. बता दें कि राफेल विमान आने के बाद यूएई की हवाई सुरक्षा बेहद मजबूत हो जाएगी और इससे कतर को आने वाले समय में काफी मुश्किल हो सकती है. क्योंकि कतर का सऊदी अरब और यूएई दोनों से ही अच्छे संबंध नहीं है.

फ्रांसीसी रक्षा मंत्रालय ने यूएई की तरफ से राफेल और सैन्य हेलीकॉप्टर विमानों के लिए दिए गए इस ऑर्डर को अब तक का सबसे बड़ा हथियार सौदा बताया है. इस समय फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैंक्रों दो दिवसीय खाड़ी देश की यात्रा पर हैं. वह सबसे पहले अमीरात पहुंचे हैं इसके बाद वे कतर और सऊदी अरब भी जाएंगे.

यूएई और फ्रांस के बीच यह सौदा दुबई एक्सपो 2020 के दौरान हुआ था जब राष्ट्रपति मैंक्रों और अबूधाबी के क्राउन प्रिंस शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने एक समारोह के दौरान 19 बिलियन डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. राष्ट्रपति इमैनुएल मैंक्रों ने कहा कि दोनों देशों के बीच हुआ यह अनुबंध दोनों देशों की रणनीतिक साझेदारी को मजबूत कराता है.

राफेल बनाने वाली कंपनी डसॉल्ट एविएशन एसए के शेयरों में 9% से अधिक की तेजी आई. यह फ्रांसीसी सेना के अलावा डसॉल्ट निर्मित राफेल की यह अब तक की सबसे बड़ी थोक खरीद है. यूएई ने 12 काराकल हेलीकॉप्टरों का भी ऑर्डर दिया है. राफेल की खरीदारी के लिए दोनों देशों को एक दशक का समय लग गया. इससे पहले अबूधाबी ने 2011 में 60 राफेल जेट की आपूर्ति के लिए फ्रांस के पास प्रस्ताव भेजा था. सूत्रों की मानें तो यूएई सेना राफेल विमानों को अपने मिराज 2000 से रिप्लेस करेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

5 × 2 =