Saturday , September 3 2022

ब्रिटेन में खतरे की घंटी !


लंदन:कोरोना वायरस का नया ओमिक्रॉन वैरिएंट धीरे-धीरे पूरी दुनिया में अपना असर दिखाने लगा है। दो दर्जन से अधिक देशों में पैर पसार चुके ओमिक्रॉन का ब्रिटेन में कम्यूनिटी ट्रांसमिशन शुरू हो गया है। ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जावेद ने सोमवार को संसद में कहा कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप ओमिक्रॉन का देश के क्षेत्रों में सामुदायिक स्तर पर प्रसार शुरू हो गया है।

जावेद ने हाउस ऑफ कॉमन्स में कहा कि ताजा आंकड़ों के अनुसार अब तक वायरस के इस स्वरूप के कुल 336 मामले सामने आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि इनमें से स्कॉटलैंड में 71 और वेल्स में चार मामले सामने आये हैं। उन्होंने कहा, ‘इनमें ऐसे मामले भी हैं जिनका अंतरराष्ट्रीय यात्रा से कोई संबंध नहीं है। इलसिए हम यह निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि अब ब्रिटेन के कई क्षेत्रों में सामुदायिक स्तर पर इसका प्रसार हो रहा है।’

कोरोना वायरस के ओमीक्रोन स्वरूप का संबंध पूर्व के संक्रमण से तैयार प्रतिरक्षा को काफी हद तक भेदने की क्षमता से है। आबादी स्तरीय प्रमाणों के आधार पर एक अध्ययन में यह दावा किया गया है। दक्षिण अफ्रीका में शोधकर्ताओं की एक टीम ने कहा है कि इसके विपरीत बीटा या डेल्टा स्वरूप के प्रतिरक्षा से बचने का आबादी स्तरीय कोई प्रमाण नहीं है। बी.1.1.529 स्वरूप को पहली बार हाल में दक्षिण अफ्रीका में पाया गया और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे ‘चिंताजनक वैरिएंट’ बताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

4 × 5 =