Tuesday , November 8 2022

महिलाओं से नफरत में 2 सौ औरतों को जिंदा काटा

दुनिया में कई तरह के क्रिमिनल्स देखने को मिले. कुछ किसी मज़बूरी में क्राइम के रास्ते पर चल पड़ते है तो कुछ अपने शातिर दिमाग में चल रही मानसिक बीमारियों के कारण क्रिमिनल बन जाते हैं. रुस की जेल में बंद दुनिया का सबसे खूंखार हत्यारा असल में एक पुलिसवाला है. इस हत्यारे का नाम मिखाइल पोपकोव है जो पहले रुस की पुलिस में काम करता था. लेकिन अब 200 महिलाओं की हत्या के आरोप में जेल में बंद है.
मिखाइल दुनिया का सबसे दुष्ट हत्यारा है. उसे महिलाओं से काफी नफरत थी. इस वजह से उसने 200 महिलाओं की हत्या कर दी. लेकिन हत्या से पहले इन महिलाओं को मिखाइल जो दर्द देता था उसकी वजह से उसे दुनिया का सबसे दुष्ट हत्यारा कहा जाता है. मिखाइल हत्या से पहले महिलाओं को घंटों टॉर्चर करता था. इसके लिए वो चाकू से लेकर हथौड़ी तक का इस्तेमाल करता था.

मिखाइल को पकड़ने से पहले पुलिस रूस में एक के बाद एक महिलाओं की बॉडी मिलने से परेशान हो गई थी. मिखाइल महिलाओं की बॉडी को बेहद वीभत्स तरीके से खराब कर देता था. बॉडी की हालत देख पुलिस ने इन महिलाओं के कातिल को वेयरवोल्फ करार दिया था. मिखाइल मारने से पहले घंटों महिलाओं को टॉर्चर करता था. जब तक उसे पकड़ा नहीं गया था पुलिस के साथ रुस के लोग भी खौफ में जी रहे थे.

57 साल का मिखाइल करीब 20 साल तक रुस में खौफ मचाता रहा. उसने अपने होमटाउन में एक के बाद एक महिलाओं को दर्दभरी मौत दी और किसी को उसपर शक नहीं हुआ. चूंकि वो एक पुलिसकर्मी था, इस वजह से किसी ने उसपर शक भी नहीं किया. लेकिन कहते हैं ना कि क्रिमिनल अपनी पहचान छोड़ ही देता है. ऐसे ही एक सबूत से मिखाइल पकड़ा गया और उसे जेल में दाल दिया गया. पहली सुनवाई में उसे 22 महिलाओं की मौत के आरोप में 2015 में उसे कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई. ये हत्याएं मिखाइल ने 1992 से 2010 के बीच की थी.

मिखाइल को अपने पाप पर कोई पछतावा नहीं है. जब उससे हत्या का कारण पूछा गया तो उसने बेशर्मी से जवाब दिया कि वो गंदगी की सफाई कर रहा था. वो महिलाओं को अपनी कार में बिठाता और फिर सुनसान जगह पर उनका रेप करता था. इसके बाद टॉर्चर कर उनकी हत्या कर देता था. मिखाइल की गाड़ी के टायर के निशान के आधार पर वो पुलिस के शक के घेरे में आया. आखिरकार उसने अपने सभी गुनाहों को मान लिया और अब जेल में बाकि की सजा काट रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × five =