Sunday , November 6 2022

चीन का अपने नागरिकों के प्रति दुर्व्यवहार

बीजिंग. कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के साथ ही एक बार फिर से चीन का अपने नागरिकों के प्रति किया जाने वाला दुर्व्यवहार सामने आ रहा है. जीरो कोविड पॉलिसी पर काम कर रहा चीन इंफेक्शन को रोकने के लिए ऐसे नियम लगा रहा है जिसकी हर तरफ आलोचना हो रही है. चीन के तमाम प्रांतों में ओमिक्रॉन वेरिएंट के चलते मामलों में काफी बढ़ोतरी हुई है. इसके चलते तियानजिन, आनयांग, शेनझेन, जियान और हेनान में लोगों को अपने घरों में ही रहने का निर्देश दिया गया है. इसके साथ ही चीन कोविड पर काबू पाने के लिए सख्ती से टेस्टिंग कर रहा है और कड़े लॉकडाउन लगा रहा है. इसके साथ ही साथ मोबाइल ऐप के जरिए लोगों पर नजर रख रहा है.

ऐसी खबरें भी सामने आई हैं कि चीन अपने कोविड से संक्रमित अपने नागरिकों को जबरन धातु के डिब्बों में क्वारंटीन कर रहा है. इतना ही नहीं आकार में बेहद ही छोटे इन डिब्बों में बुनियादी जरूरतों से जुड़ी चीजें तक मौजूद नहीं हैं. इन डिब्बों में बुजुर्ग, बच्चों और गर्भवती महिलाओं को इन डिब्बों में बंद किया जा रहा है. चीनी सोशल मीडिया पर ऐसी तमाम खबरें सामने आई हैं जहां बुजुर्ग, बच्चे और गर्भवती महिलाएं इन डिब्बों में जगह की कमी और गंदे बाथरूमों आदि समस्याओं को लेकर आवाज उठा रहे हैं. इन डिब्बों में आम लोगों को करीब 2 हफ्तों के लिए रहना होगा. इन डिब्बों में इन लोगों के खाने की व्यवस्था भी बेहद खराब है. एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि इन डिब्बों में 30 बसों से लाकर 1000 लोगों को रखा गया है.

इतना ही नहीं कोविड-19 को रोकने के लिए बढ़ रही चीन की सनक का खामियाजा आम लोगों को उठाना पड़ रहा है. चीन के जियान में एक अस्पताल में गर्भवती महिला को बिना कोविड टेस्ट के एडमिट करने से इनकार कर दिया गया जिसके चलते महिला का गर्भपात हो गया. जियान में ही करीब 2 करोड़ लोगों को खाना खरीदने तक के लिए भी बाहर नहीं निकलने दिया जा रहा है. घर से खाना लेने के लिए बाहर निकले एक शख्स को चीनी सुरक्षा अधिकारियों ने पीटा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 − one =