Sunday , November 6 2022

विराट कोहली की टेस्ट कप्तानी अब खतरे में पड़ी?

नई दिल्ली: टीम इंडिया के टेस्ट कप्तान विराट कोहली का बुरा समय खत्म नहीं हो रहा है. एक तरफ विराट बल्ले से पिछले दो सालों से शतक मारने में नाकाम रहे हैं, वहीं अब साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज जीतने का सपना भी टूट गया है. बीसीसीआई ने पहले ही विराट को वनडे की कप्तानी से हटा दिया था, जबकि उन्होंने टी20 की कप्तानी खुद छोड़ दी थी. इस सीरीज हार के बाद विराट की टेस्ट कप्तानी पर भी एक बड़ा खतरा मंडरा रहा है. सेलेक्टर्स विराट की जगह किसी दूसरे खिलाड़ी को कप्तानी सौंप सकते हैं.

इस बात में कोई दो राय नहीं है कि साउथ अफ्रीका में टेस्ट सीरीज हार के बाद विराट कोहली की टेस्ट कप्तानी पर भी खतरा मंडरा रहा है. इस पद के लिए सबसे बड़े दावेदार रोहित शर्मा हो सकते हैं. लेकिन बीसीसीआई हर फॉर्मेट का एक अलग कप्तान चाहता है और ऐसे में विराट की जगह अगला कप्तान 29 साल के केएल राहुल को बनाया जा सकता है. राहुल ने हाल ही में साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में टीम की कप्तानी की थी. राहुल मुश्किलों से घबराते नहीं हैं और साथ ही उनकी बल्लेबाजी पर कप्तानी का कोई असर नहीं पड़ता.

जिस तरह से विराट की गैरमौजदूगी में केएल राहुल ने कप्तानी की, उसने सभी का दिल जीता. वहीं रोहित के वनडे सीरीज से बाहर होने के बाद बीसीसीआई ने केएल राहुल को कप्तानी सौंपकर ये साफ कर दिया कि वो भी कप्तानी के लिए सबके जहन में मौजूद हैं. वहीं रोहित को टेस्ट टीम कप्तान बनाना, इसलिए नुकसानदायक है क्योंकि रोहित की उम्र इस वक्त 34 साल है. इस उम्र तक ज्यादातर खिलाड़ी खेल से रिटायरमेंट लेने का प्लान बना लेते हैं. ऐसे में रोहित लंबे समय तक कप्तानी नहीं संभाल पाएंगे और उन्हें सौंपने का रिस्क बोर्ड नहीं लेना चाहेगा. वहीं बीसीसीआई पहले ही साफ कर चुका है कि अब वो भी बाकि बोर्ड्स की तरह अलग फॉर्मेट का अलग कप्तान चाहते हैं.

विराट कोहली को पहले ही वनडे कप्तानी से बीसीसीआई हटा चुका है. इस फैसले के बाद विराट कोहली और बीसीसीआई चीफ सौरव गांगुली में कई बार बहस भी हो चुकी है. बीसीसीआई और विराट के लंबे विवाद से एक बात साफ है कि बोर्ड इस खिलाड़ी से ज्यादा खुश नहीं है. ऐसे में बीसीसीआई को विराट से टेस्ट कप्तानी छीनने का भी एक सुनहरा मौका मिल गया है.

दक्षिण अफ्रीका ने भारत के खिलाफ 212 रन का पीछा करते हुएअपनी दूसरी पारी में 3 विकेट खोकर टारगेट को हासिल कर लिया. कीगन पीटरसन ने शानदार 81 रन की पारी खेली, वहीं रासी वान डार डुसेन ने 41 और टेम्बा बवूमा ने 32 रन का योगदान देकर अपनी टीम को 7 विकेट से यादगार जीत दिला दी. टीम इंडिया ने सेंचुरियन में पहला टेस्ट मैच 113 रन से जीतकर कमाल कर दिया था, लेकिन जोहानिसबर्ग और केपटाउन में दोनों टेस्ट गंवाकर सीरीज में 1-2 से शिकस्त पाई. भारत आज तक इस सरजमीं पर एक भी टेस्ट सीरीज नहीं जीत पाई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

14 + 13 =