Monday , November 7 2022

महिला को है प्रेमिका बनने का शौक, शादीशुदा मर्दों से ही …?

ग्वेनेथ ली के चाहने वालों की कमी नहीं है. इतने प्रेमी हैं कि हर रात अलग शख्स के साथ ही गुज़रती है. फिर भी वैलेनटाइन डे के दिन वो अक्सर अकेली ही रहती है. एक ऐसी महिला जिसके चाहने वालों की बदौलत वो शान-ओ-शौकत के साथ अय्याश ज़िंदगी जीती है. मगर है बिल्कुल अकेली.

वैलेनटाइन डे के दिन हर कोई अपने-अपने लविंग पार्टनर्स के साथ वक्त गुज़रना चाहता हैं. उनके लिए खूबसूरत महंगे तोहफे, फ्लॉवर्स, पार्टी, सरप्राइज़ और भी न जाने क्या-क्या करते हैं लोग उस खास दिन. मगर एक औरत ऐसी भी है जिसे इन सबके लिए किसी खास दिन का इंतज़ार करने की ज़रूरत नहीं होती, उनके लिए हर दिन ही वैलेनटाइन डे है. वजह है उनके चाहने वाले, जो उन्हें तकरीबन हर दिन गिफ्ट, सरप्राइज, पैसे और ट्रिप पर ले जाने को तैयार रहते हैं. वो अपने प्रेमियों के बल पर इतनी लैविश लाइफ जी रही हैं कि शायद ही किसी सिंगल लेडी के पास इतनी लग्ज़री हो.

ग्वेनेथ ली एक ऐसी महिला हैं जिसे उसके प्रेमियों की पत्नियां खुद कॉल करके बुलाती हैं. अपने पति का हाल बताती हैं. और तो और उन्हें अपने पति के साथ समय बिताने के लिए दबाव बनाती है. खुद को सीरियल चीट कहने वाली ग्वेनेथ कहती हैं उन्हें किसी के पति के साथ रहने में कभी कोई अफसोस नहीं हुआ. क्योंकि कई बार पत्नियां उनकी सहेली बन जाती है.

49 साल की ग्वेनेथ ली लंदन और कैलिफोर्नियां के बीच ट्रैवेल करती रहती हैं. उन्होंने अपना अनुभव साझा करते हुए बताया कि कैसे एक बार एक पूरी तरह नशे में धुत्त महिला ने उन्हें कॉल किया और बताया कि पति के फोन ने उनका नंबर मिला. मुझ पर गुस्सा निकालने की बजाय उसने मुझे पति और अपने साथ ड्रिंक पर बुलाया. हालांकि कई महिलाएं उन्हें पति चुराने वाली के नाम से भी पुकारती हैं. मगर ली को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता. वो शादीशुदा लोगों के अफेयर्स को उनके कल्चर से जोड़कर देखती है.

ली के मुताबिक जो मर्द अपनी शादी से बोर होने लगते हैं. न चाहकर भी घर के बाहर एक नया रिश्ता चाहते हैं जिससे उन्हें थोड़ा सुकून मिले. बोरियत से थोड़ ब्रेक मिले तो ऐसे मर्दों के साथ अफेयर कर वो उनकी शादी टूटने से बचाती हैं. क्योंकि उन्हें उन बेचारे पतियों से शादी तो करनी नहीं. ऐसे में वो अपनी पत्नियों को छोड़ने का प्लान नहीं बनाते. लिहाज़ा वो मेरे पास खुश रहते हैं और वापस अपने घर परिवार के पास जाते हैं. कई पत्नियों ने मुझे उनका घर टूटने से बचाने के लिए शुक्रिया भी कहा है. हालांकि कई औरतें ऐसी भी हैं जो सामाजिक और आर्थिक निर्भरता के चलते पति के अफेयर का विरोध नहीं कर पातीं. इसलिए भी मुझे उनके गुस्से का भागी नहीं बनना पड़ता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − three =