Monday , November 7 2022

एआईएमआईएम और पीस पार्टी ने मिलाया हाथ


: उत्तर प्रदेश चुनाव में मुस्लिम वोटों को लेकर खींचतान जारी है. एक तरफ जहां समाजवादी पार्टी खुद को भाजपा को चुनौती देने वाली अकेले पार्टी होने का दावा करते हुए मुस्लिम समुदाय से वोट देने की अपील कर रही है. वहीं दूसरी तरफ एआईएमआईएम चीफ भी खुद को सबसे बड़ा मुस्लिम नेता साबित करने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाए हुए हैं.

बुधवार को यूपी की राजनीति में एक नया घटनाक्रम हुआ. एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी और उत्तर प्रदेश के मुस्लिमों के बीच पहचान रखने वाली पीस पार्टी ने हाथ मिला लिए.

असदुद्दीन ओवैसी ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि हमने तय किया है कि जहां भी पीस पार्टी चुनाव लड़ रही है, वहां भागीदारी परिवर्तन मोर्चा उनका समर्थन करेगा. इसी तरह से पीस पार्टी भी उन सभी जगहों पर जनभागीदारी मोर्चा के प्रत्याशियों का समर्थन करेगी, जहां हमने उम्मीदवार उतारे हैं.

इस मौके पर पीस पार्टी के डॉ. अयूब खान ने कहा कि हमने हमने जनता को एक मजबूत विकल्प देने की कोशिश की है. उन्होंने कहा कि हम ओवैसी के कैंडिडेट को समर्थन देंगे. उन्होंने बताया कि पीस पार्टी ने 50 के आसपास उम्मीदवार उतारे हैं. आपको बता दें कि ओवैसी और बाबू सिंह कुशवाहा के भागीदारी संकल्प मोर्चा ने यूपी में 310 कैंडिडेट मैदान में उतारे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − 8 =